गाना / Title: उन से नज़रें मिली और हिजाब आ गया - un se nazare.n milii aur hijaab aa gayaa

चित्रपट / Film: Ghazal

संगीतकार / Music Director: मदन मोहन-(Madan Mohan)

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)Minoo Purshottam

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



उन से नज़रें मिली और हिजाब आ गया
ज़िंदगी में हसीन इन्क़िलाब आ गया

बेखबर थे उमर के तक़ाज़ों से हम
हमको मालूम न था ऐसे भी दिन आयेंगे
आइना देखे तो आप अपने से शरमायेंगे
आज जाना कि सच मुच शबाब आ गया

आँख झुकती है क्यों साँस रुकती है क्यों
इन सवालों क खुद से जवाब आ गया

दिल के आने को हम किस तरह रोकते
जिसपे आना था ख़ाना खराब आ गया




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

un se nazare.n milii aur hijaab aa gayaa
zi.ndagii me.n hasiin inqilaab aa gayaa

bekhabar the umar ke taqaazo.n se ham
hamako maaluum na thaa aise bhii din aaye.nge
aa_inaa dekhe to aap apane se sharamaaye.nge
aaj jaanaa ki sach much shabaab aa gayaa

aa.Nkh jhukatii hai kyo.n saa.Ns rukatii hai kyo.n
in savaalo.n ka khud se javaab aa gayaa

dil ke aane ko ham kis tarah rokate
jisape aanaa thaa Kaanaa kharaab aa gayaa