गाना / Title: अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है - apanii to har aah ik tuufaan hai

चित्रपट / Film: Kaala Bazaar

संगीतकार / Music Director: सचिन देव बर्मन-(S D Burman)

गीतकार / Lyricist: Shailendra

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है
क्या करे वो जान कर अंजान है -
ऊपर वाल जान कर अंजान है

अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है
ऊपर वाल जानकर अंजान है
अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है
 
अब तो हँसके अपनी भी क़िस्मत को चमका दे
कानों में कुछ कह दे जो इस दिल को बहला दे
ये भी मुशकिल है तो क्या आसान है
ऊपर वाल जान कर अन्जान है ...
 
सर पे मेरे तू जो अपना हाथ ही रख दे
फिर तो भटके राही को मिल जायेंगे रस्ते
दिल की बस्ती बिन तेरे वीरान है
ऊपर वाल जानकर अन्जान है ...
 
दिल ही तो है इस ने शायद भूल भी की है
ज़िंदगी है भूल कर ही राह मिलती है
माफ़ कर बन्दा भी इक इन्सान है
ऊपर वाल जान कर अंजान है
अपनी तो हर आह इक तूफ़ान है
 



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


apanii to har aah ik tuufaan hai
kyaa kare vo jaan kar a.njaan hai -
uupar vaala jaan kar a.njaan hai

apanii to har aah ik tuufaan hai
uupar vaala jaanakar a.njaan hai
apanii to har aah ik tuufaan hai
 
ab to ha.Nsake apanii bhii qismat ko chamakaa de
kaano.n me.n kuchh kah de jo is dil ko bahalaa de
ye bhii mushakil hai to kyaa aasaan hai
uupar vaala jaan kar anjaan hai ...
 
sar pe mere tuu jo apanaa haath hii rakh de
phir to bhaTake raahii ko mil jaaye.nge raste
dil kii bastii bin tere viiraan hai
uupar vaala jaanakar anjaan hai ...
 
dil hii to hai is ne shaayad bhuul bhii kii hai
zi.ndagii hai bhuul kar hii raah milatii hai
maaf kar bandaa bhii ik insaan hai
uupar vaala jaan kar a.njaan hai
apanii to har aah ik tuufaan hai