गाना / Title: चार दिनों की चाँदनी है फिर अँधियारी रात - chaar dino.n kii chaa.Ndanii hai phir a.Ndhiyaarii raat

चित्रपट / Film: Girls School

संगीतकार / Music Director: अनिल बिसवास-(Anil Biswas)

गीतकार / Lyricist: प्रदीप-(Pradeep)

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)Shankar Dasgupta

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          




श: बार बार तुम सोच रही हो
    मन में कौन सी बात, मन में कौन सी बात
ल: चार दिनों की चाँदनी है फिर अँधियारी रात

श: आज तुम्हारे चेहरे की रंगत बोलो क्यों बदली है
ल: मुझे भी ख़ुद मालूम नहीं
    कि मेरी कश्ती किधर चली है
श: दूर ओ देखो झिल\-मिल झिल\-मिल
    चमक रही है अपनी मंज़िल
    उस मंज़िल की ओर सजनिया
    चलो चलें एक साथ

ल: कितना है आसान जगत में मन के महल बनाना
    पर कितना मुश्क़िल है अपने हाथ से उन्हें गिराना
    कितना है आसान जगत में मन के महल बनाना
    पहले एक धुँधली सी आशा, फिर मजबूरी और निराशा
श: प्रेम के पथ पर हर प्रेमी को मिली यही सौग़ात




        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      


sh: baar baar tum soch rahii ho
    man me.n kaun sii baat, man me.n kaun sii baat
la: chaar dino.n kii chaa.Ndanii hai phir a.Ndhiyaarii raat

sh: aaj tumhaare chehare kii ra.ngat bolo kyo.n badalii hai
la: mujhe bhii Kud maaluum nahii.n
    ki merii kashtii kidhar chalii hai
sh: duur o dekho jhil\-mil jhil\-mil
    chamak rahii hai apanii ma.nzil
    us ma.nzil kii or sajaniyaa
    chalo chale.n ek saath

la: kitanaa hai aasaan jagat me.n man ke mahal banaanaa
    par kitanaa mushqil hai apane haath se unhe.n giraanaa
    kitanaa hai aasaan jagat me.n man ke mahal banaanaa
    pahale ek dhu.Ndhalii sii aashaa, phir majabuurii aur niraashaa
sh: prem ke path par har premii ko milii yahii sauGaat