गाना / Title: चल सन्यासी, मंदिर में, तेरा चिमटा मेरी चूड़ियाँ - chal sanyaasii, ma.ndir me.n, teraa chimaTaa merii chuu.Diyaa.N

चित्रपट / Film: Sanyasi

संगीतकार / Music Director: शंकर - जयकिशन-(Shankar-Jaikishan)

गीतकार / Lyricist: Vishveshvar Sharma

गायक / Singer(s): लता मंगेशकर-(Lata Mangeshkar)किशोर कुमार-(Kishore Kumar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



चल सन्यासी मंदिर में, तेरा चिमटा मेरी चूड़ियाँ
दोनों साथ बजाएंगे, साथ\-साथ खनकाएंगे
क्यूँ हम जायें मंदिर में, पाप है तेरे अंदर में
लेकर माला कंठ दुशाला राम नाम गुन गायेंगे
रेशम सा ये रूप सलोना यौवन है या तपता सोना
ये तेरी मोहन सी सूरत कर गई मुझपे हाए जादू\-टोना
कैसा जादू\-टोना, सारी मन की ये माया है
तुम पे देवी किसी रोग की पड़ी विकट छाया है
चल सन्यासी मंदिर में, तेरा कमंडल मेरी गगरिया
साथ\-साथ छलकायेंगे, क्यूँ हम जायें मंदिर में
पाप है तेरे अंदर में
हम तो जोगी राम के रोगी धूनी अलग रमाएंगे
जागे\-जागे सो जाती हूँ और सपनों में खो जाती हूँ
तब तू मेरा हो जाता है और पिया मैं तेरी हो जाती हूँ
सपनों में भरमाकर मानव सच्चा सुख खोता है
अरे, राम नाम जपते रहने से कष्ट दूर होता है
चल सन्यासी मंदिर में, तेरा चोला मेरी चुनरिया
साथ\-साथ रंगवायेंगे, क्यों हम जायें मंदिर में
पाप है तेरे अंदर में
छोड़ झमेले बैठ अकेले जीवन सफल बनायेंगे
मन से मन का दीप जला ले मधुर मिलन की ज्योती जगा ले
पूरण कर दे मेरी आशा आज मुझे अपना ले अपना ले
मन से मन का दीप जलाना मुझे नहीं आता है
बस पूजा की ज्योत जलाना मुझे यही भाता है
चल सन्यासी मंदिर में, मेरा रूप और तेरी जवानी
मिलकर ज्योती जलायेंगे, क्यों हम जायें मंदिर में
पाप है तेरे अंदर में
धर्म छोड़कर, ध्यान छोड़कर पाप नहीं अपनाएंगे
प्रेम है पूजा प्रेम है पूजन प्रेम जगत है प्रेम ही जीवन
मत कर तू अपमान प्रेम का
प्रेम है नाम प्रभू का बड़ा ही पावन
प्रेम\-प्रेम कर के मुझको कर देगी अब तू पागल
मेरा धीरज डोल रहा है, लाज रखे गंगा जल
चल सन्यासी मंदिर में, तेरी माला, मेरा गजरा
गंगा साथ नहायेंगे



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

chal sanyaasii ma.ndir me.n, teraa chimaTaa merii chuu.Diyaa.N
dono.n saath bajaae.nge, saath\-saath khanakaae.nge
kyuu.N ham jaaye.n ma.ndir me.n, paap hai tere a.ndar me.n
lekar maalaa ka.nTh dushaalaa raam naam gun gaaye.nge
resham saa ye ruup salonaa yauvan hai yaa tapataa sonaa
ye terii mohan sii suurat kar ga_ii mujhape haae jaaduu\-Tonaa
kaisaa jaaduu\-Tonaa, saarii man kii ye maayaa hai
tum pe devii kisii rog kii pa.Dii vikaT chhaayaa hai
chal sanyaasii ma.ndir me.n, teraa kama.nDal merii gagariyaa
saath\-saath chhalakaaye.nge, kyuu.N ham jaaye.n ma.ndir me.n
paap hai tere a.ndar me.n
ham to jogii raam ke rogii dhuunii alag ramaae.nge
jaage\-jaage so jaatii huu.N aur sapano.n me.n kho jaatii huu.N
tab tuu meraa ho jaataa hai aur piyaa mai.n terii ho jaatii huu.N
sapano.n me.n bharamaakar maanav sachchaa sukh khotaa hai
are, raam naam japate rahane se kashhT duur hotaa hai
chal sanyaasii ma.ndir me.n, teraa cholaa merii chunariyaa
saath\-saath ra.ngavaaye.nge, kyo.n ham jaaye.n ma.ndir me.n
paap hai tere a.ndar me.n
chho.D jhamele baiTh akele jiivan saphal banaaye.nge
man se man kaa diip jalaa le madhur milan kii jyotii jagaa le
puuraN kar de merii aashaa aaj mujhe apanaa le apanaa le
man se man kaa diip jalaanaa mujhe nahii.n aataa hai
bas puujaa kii jyot jalaanaa mujhe yahii bhaataa hai
chal sanyaasii ma.ndir me.n, meraa ruup aur terii javaanii
milakar jyotii jalaaye.nge, kyo.n ham jaaye.n ma.ndir me.n
paap hai tere a.ndar me.n
dharm chho.Dakar, dhyaan chho.Dakar paap nahii.n apanaae.nge
prem hai puujaa prem hai puujan prem jagat hai prem hii jiivan
mat kar tuu apamaan prem kaa
prem hai naam prabhuu kaa ba.Daa hii paavan
prem\-prem kar ke mujhako kar degii ab tuu paagal
meraa dhiiraj Dol rahaa hai, laaj rakhe ga.ngaa jal
chal sanyaasii ma.ndir me.n, terii maalaa, meraa gajaraa
ga.ngaa saath nahaaye.nge