गाना / Title: इतनी नाज़ुक ना बनो, हाय, इतनी नाज़ुक ना बनो - itanii naazuk naa bano, haay, itanii naazuk naa bano

चित्रपट / Film: Vaasna

संगीतकार / Music Director: Chitragupt

गीतकार / Lyricist: साहिर-(Sahir)

गायक / Singer(s): मोहम्मद रफ़ी-(Mohammad Rafi)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          

 

इतनी नाज़ुक ना बनो, हाय, इतनी नाज़ुक ना बनो
हदके अन्दर हो नज़ाकत तो अदा होती है
हदसे बढ़ जाये तो आप अपनी सज़ा होती है
(इतनी...)

जिस्म का बोझ उठाये नहीं उठता तुमसे
ज़िंदगानी का कड़ा बोझ सहोगी कैसे
तुम जो हलकीसी हवाओं में लचक जाती हो
तेज़ झोंकों के थपेड़ों में रहोगी कैसे
(इतनी...)

ये ना समझो के हर इक राह में कलियां होंगी
राह चलनी है तो कांटों पे भी चलना होगा
ये नया दौर है इस दौर में जीने के लिये
हुस्न को हुस्न का अन्दाज़ बदलना होगा 
(इतनी...)

कोइ रुकता नहीं ठहरे हुए राही के लिये
जो भी देखेगा वोह कतराके गुज़र जायेगा
हम अगर वक़्त के हमराह ना चलने पाये
वक़्त हम दोनो को ठुकराके गुज़र जायेगा
(इतनी...)



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
       

itanii naazuk naa bano, haay, itanii naazuk naa bano
hadake andar ho nazaakat to adaa hotii hai
hadase ba.Dh jaaye to aap apanii sazaa hotii hai
(itanii...)

jism kaa bojh uThaaye nahii.n uThataa tumase
zi.ndagaanii kaa ka.Daa bojh sahogii kaise
tum jo halakiisii havaao.n me.n lachak jaatii ho
tez jho.nko.n ke thape.Do.n me.n rahogii kaise
(itanii...)

ye naa samajho ke har ik raah me.n kaliyaa.n ho.ngii
raah chalanii hai to kaa.nTo.n pe bhii chalanA hogaa
ye nayaa daur hai is daur me.n jiine ke liye
husn ko husn kaa andaaz badalanaa hogaa 
(itanii...)

koi rukataa nahii.n Thahare hue raahii ke liye
jo bhii dekhegaa voh kataraake guzar jaayegaa
ham agar vaqt ke hamaraah naa chalane paaye
vaqt ham dono ko Thukaraake guzar jaayegaa
(itanii...)