गाना / Title: नफ़रत करने वालों के सीने में प्यार भर दूँ - nafarat karane vaalo.n ke siine me.n pyaar bhar duu.N

चित्रपट / Film: Johnny Mera Naam

संगीतकार / Music Director: कल्याणजी - आनंदजी-(Kalyanji-Anandji)

गीतकार / Lyricist: इन्दीवर-(Indeevar)

गायक / Singer(s): किशोर कुमार-(Kishore Kumar)

Lyrics in English - ASCII
देवनागरी बोल :
          



नफ़रत करने वालों के सीने में प्यार भर दूँ \- २
अरे मैं वो परवाना हूँ पत्थर को मोम कर दूँ
नफ़रत करने वालों के सीने में प्यार भर दूँ

(फिर आप क्या हैं? हैं? 
आखिर तो फूल हैं, फ़ौलाद नहीं हैं
अरे, बुलबुल हैं किसी बाग़ के, सैयाद नहीं हैं!)

बुलबुल के तड़पने से सैयाद पिघलता है \- २
आहों में असर हो तो फ़ौलाद पिघलता है
फ़ौलाद के भी दिल में उलफ़त की आग भर दूँ
अरे मैं वो परवाना हूँ पत्थर को मोम कर दूँ
नफ़रत करने वालों के सीने में प्यार भर दूँ

(शर्म\-ओ\-हया का पर्दा दुश्वार नहीं है
अजी हल्का सा इक परदा है, दीवार नहीं है!)
	
आँचल की ये दीवार तो दीवार नहीं है \- २
फिर आप के भी दिल में इन्कार नहीं है
इन्कार जिन लबों में इक़रार उनमें भर दूँ
अरे मैं वो परवाना हूँ पत्थर को मोम कर दूँ
नफ़रत करने वालों के सीने में प्यार भर दूँ

(हम वो हैं,
ज़िन्दगी में कभी साथ ना छोड़ेंगे!
थामेंगे अगर हाथ तो फिर हाथ ना छोड़ेंगे!!)

हम हाथ ना छोड़ेंगे, तूफ़ां से किनारों तक \- २
हम साथ ना छोड़ेंगे, धरती से सितारों तक
चाहत के सितारों से, धरती की माँग भर दूँ
अरे मैं वो परवाना हूँ पत्थर को मोम कर दूँ
नफ़रत करने वालों के, सीने में प्यार भर दूँ
अरे मैं वो परवाना हूँ पत्थर को मोम कर दूँ
नफ़रत करने वालों के, सीने में प्यार भर दूँ



        

Related content:

Lyrics in Unicode - Devanagari
Lyrics:
      

nafarat karane vaalo.n ke siine me.n pyaar bhar duu.N \- 2
are mai.n vo paravaanaa huu.N patthar ko mom kar duu.N
nafarat karane vaalo.n ke siine me.n pyaar bhar duu.N

(phir aap kyaa hai.n? hai.n? 
aakhir to phuul hai.n, faulaad nahii.n hai.n
are, bulabul hai.n kisii baaG ke, saiyaad nahii.n hai.n!)

bulabul ke ta.Dapane se saiyaad pighalataa hai \- 2
aaho.n me.n asar ho to faulaad pighalataa hai
faulaad ke bhii dil me.n ulafat kii aag bhar duu.N
are mai.n vo paravaanaa huu.N patthar ko mom kar duu.N
nafarat karane vaalo.n ke siine me.n pyaar bhar duu.N

(sharm\-o\-hayA kaa pardaa dush{}vaar nahii.n hai
ajii halkaa saa ik paradA hai, diivaar nahii.n hai!)
	
aa.Nchal kii ye diivaar to diivaar nahii.n hai \- 2
phir aap ke bhii dil me.n inkaar nahii.n hai
inkaar jin labo.n me.n iqaraar uname.n bhar duu.N
are mai.n vo paravaanaa huu.N patthar ko mom kar duu.N
nafarat karane vaalo.n ke siine me.n pyaar bhar duu.N

(ham vo hai.n,
zindagii me.n kabhii saatha naa chho.De.nge!
thaame.nge agar haath to phir haath naa chho.De.nge!!)

ham haath naa chho.De.nge, tuufaa.n se kinaaro.n tak \- 2
ham saath naa chho.De.nge, dharatii se sitaaro.n tak
chaahata ke sitaaro.n se, dharatI kii maa.Ng bhar duu.N
are mai.n vo paravaanaa huu.N patthar ko mom kar duu.N
nafarat karane vaalo.n ke, siine me.n pyaar bhar duu.N
are mai.n vo paravaanaa huu.N patthar ko mom kar duu.N
nafarat karane vaalo.n ke, siine me.n pyaar bhar duu.N